Saturday , July 22 2017
Home / Travel Destinations / वियतनाम और फ्रांस का सुमेल: हो ची मिन्ह
वियतनाम और फ्रांस का सुमेल: हो ची मिन्ह

वियतनाम और फ्रांस का सुमेल: हो ची मिन्ह

हो ची मिन्ह शहर की खूबसूरत इमारतों को देखने पर लगता है जैसे आप किसी फ्रांसीसी शहर में हों। साफ जाहिर है कि वियतनाम का यह प्रमुख शहर आज भी अपनी फ्रांसीसी परम्परा तथा विरासत को सहेजे है। शहर में कई खूबसूरत इमारतें, विशाल पार्क व बागीचे इसकी खासियत हैं।

साईगोन के नाम से भी मशहूर इस शहर को देखने के लिए शारीरिक रूप से मजबूत लोग पैदल घूम सकते हैं अथवा साइकिल किराए पर ले सकते हैं। एक अन्य उत्तम विकल्प मोटरबाइक टैक्सी की पिछली सीट पर बैठना है। कुछ लोग सुबह सैर की शुरुआत पैदल करतें हैं और लौटते वक्त ऐसी ही टैक्सी लेना पसंद करते हैं।

शहर में सड़कें मोटरबाइक्स व मोपेड से भरी दिखाई देती है। लगभग सभी वियतनामी मोटरबाइक चलाने में उतने ही कुशल दिखाई देते हैं जितना कि पैदल चलने में।

शहर में मोटरबाइक्स का इस्तेमाल हर कोई करता है। चाहे स्मार्ट ड्रेस्ड एग्जीक्यूटिव हों, बिजनैसमैन हों, स्कूली बच्चे तथा खूबसूरत महिलाओं से लेकर बुजुर्ग तक इनमें शामिल हैं। शहर में निजी कारें बेहद कम दिखाई देती हैं जबकि टैक्सी, ट्रक और मिनी बसें काफी हैं।

शहर के प्रमुख आकर्षणों में डोंग खोई, गुयेन हुए तथा ले लोई सड़के भी शामिल हैं। ये इस शहर के केंद्र में स्थित हैं जहां फ्रांसीसी दौर में निर्मित कुछ बेहद खूबसूरत साव्रजनिक इमारतें तथा होटल हैं। करीब ही बीटैक्सको टावर के ऊपर से सारे शहर को निहारा जा सकता है। शहर की इस सबसे ऊंची इमारत से साइगोन नदी और इससे जुड़ी नहरें भी दिखती हैं।

डोंग खोई मार्ग में ही एक खूबसूरत चौराहा है। इसके तीन ओर सुंदर उपनिवेशी काल की इमारतें, म्यूनिसिपल थिएटर तथा पुराने दौर के दो होटल दिखाई देते हैं।

पहले सिटी हॉल के नाम से जाना जाता पीपुल्स इंडीपैंडैंस पैलेस भी उपनिवेशी काल के फ्रांसीसी वास्तुशिल्प का खूबसूरत नमूना है।

डोंग खोई के दूसरे छोर पर 2 और खूबसूरत इमारतें हैं। इनमें से एक नोत्रे दैम गिरजाघर तथा दूसरी पुराना सैंट्रल पोस्ट ऑफिस है। नोत्रे दैम वियतनाम का सबसे शानदार गिरजाघर है। इसकी दो मीनारें आकाश को छूती प्रतीत होती हैं। इसके करीब ही खूबसूरत महल व संग्रहालय के अलावा वार म्यूजियम भी देखने लायक है।

वार म्यूजियम में वियतनाम युद्ध से जुड़ी कई चीजें प्रदर्शित हैं। इनमें कई तस्वीरें भी शामिल हैं जिनमें वियतनाम-अमेरिका युद्ध के दौरान वियतनाम लोगों की देशभक्ति, शहीदी के अलावा खुद से कहीं ज्यादा शक्तिशाली पश्चिमी ताकत पर जीत पाने के दौरान झेली तबाही भी दिखाई देती है।

शहर के पश्चिमी हिस्से में मूल चीनी लोगों की बड़ी संख्या है। यहां कई चीजों में चीनी परम्परा व संस्कृति दिखाई देती है। कई चीनी बौद्ध मंदिर भी दिखाई देते हैं। यहां चोलोन नामक स्थान पर शहर के दो सबसे पुराने बोद्ध मंदिर-गियाक लाम तथा गियाक विएन पगोड़ा हैं।

शहर के बीच बेन थान्ह नामक भीड़ भरा बाजार है। यहां सड़क किनारे खरीदने के लिए चीजों की भरमार है। शाम के वक्त भी एक विशेष बाजार लगता है तथा खाने-पीने के लिए कई तरह के स्टाल सड़क किनारे मिल जाते हैं। इन बाजारों में ही साइगोन का असली चेहरा दिखाई देता है जो इसकी फ्रांसीसी छवि से पूर्णतया अलग है।

यहां से कुछ आगे बियो विएन नामक शहर का सबसे जिंदादिल इलाका शुरू होता है जहां कैफे, पब तथा रेस्तरांओं की भरमार है। स्थानीय लोगों के अलावा पर्यटक भी यहां अच्छा वक्त गुजारते हैं। डिस्को भी कई हैं। सप्ताहांत में तो शहर के इस हिस्से में चहल-पहल और बढ़ जाती है। जवान लड़के-लड़कियों को यहां डिस्को में थिरकते आम देखा जा सकता है।

हर कोई खाने-पीने और मनोरंजन में डूबा होता है लेकिन इतनी चहल-पहल तथा मौज-मस्ती के बीच भी लोगो में गजब का अनुशासन तथा धैर्य काबिले तारीफ है।

Check Also

चिम्बोराजो: अंतरिक्ष के सबसे करीब

चिम्बोराजो: अंतरिक्ष के सबसे करीब

चिम्बोराजो ज्वालामुखी की खड़ी ढ़लान पर ऊपर की ओर जाने का प्रयास कर रहे एलैग्जैंडर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *