Saturday , July 22 2017
Home / Travel Destinations / मांडले की सुंदरता में खो जाइए Mandalay City, Myanmar
मांडले की सुंदरता में खो जाइए Mandalay City, Myanmar

मांडले की सुंदरता में खो जाइए Mandalay City, Myanmar

मांडले (Mandalay) म्यांमार (Myanmar / Burma) का दूसरा सबसे बड़ा शहर एवं अंतिम शाही राजधानी है। यह यंगून (पहले के रंगून) से 716 किलोमीटर उत्तर दिशा में इरावदी नदी के तट पर बसा बेहद खूबसूरत शहर है। यह उत्तरी म्यांमार का वाणिजियक केंद्र एवं बर्मी संस्कृति का प्रमुख स्थल है। मांडले की जेल में ही बाल गंगाधर तिलक, बहादुरशाह जफर आदि अनेक भारतीय नेताओं एवं क्रांतिकारियों को अंग्रेजों ने बंदी बना रखा था।

मांडले की स्थापना 1857 में राजा मिंडन ने की थी परंतु 1886 में उनके उत्तराधिकारी राजा थिबा को अंग्रेजों के हाथों में सत्ता सौंप कर देश पर उनके अधिकार को स्वीकार करना पड़ा था। शहर का शाही महत्व खत्म हो गया तथा अंग्रेज देश की राजधानी रंगून ले गए। इसके बावजूद आज भी मांडले के हर हिस्से में शाही शहर के अंश महसूस किए जा सकते हैं।

शाही इमारतों के अवशेष

Kuthodaw Pagoda: Mandalay Monastry
Kuthodaw Pagoda: Mandalay Monastry

दुख की बात है कि शाही महल अब नहीं है क्योंकि इसके अधिकतर शानदार हिस्से द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान कुछ वक्त के लिए म्यांमार पर कब्जा करने वाले जापानी सैनिकों पर मित्र राष्ट्रों की बमबारी से तबाह हो गए थे। हालांकि इसकी कई विशाल प्राचीरें तथा खाइयां आज भी मौजूद हैं। महल के प्रांगण में आज जो भी कुछ संरचनाएं दिखाई देती हैं, उनका पुनर्निर्माण हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय सहायता से किया गया है।

एक वक्त शाही आवास का हिस्सा रहा श्वेनंदा मठ महल के बाहर उत्तर-पश्चिम की ओर खड़ा है। इसकी खूबसूरती तथा आकर्षण से पता सहज ही आभास हो जाता है कि बमबारी में किस तरह की सुंदर स्थापत्य कला को धूल में मिला दिया गया था। इसमें लड़की पर की गई पारम्परिक बर्मी कलात्मक नक्काशी देखते ही बनती है। इस शहर में नैसर्गिक सुंदरता तथा स्थापत्य कला के ऐसे-ऐसे नमूने दिखाई देते हैं कि कोई भी इसकी खूबसूरती में डूब कर अपने आपको खो सकता है।

मांडले हिल

शहर की खूबसूरती को निहारने की शुरुआत के लिए उत्तम स्थल है मांडले हिल जिससे इस शहर को इसका नाम मिला है। सम्पूर्ण मांडले हिल एक पवित्र स्थल है जहां लिफ्ट पर सवार होते या इसकी 1729 सीढ़ियों पर कदम रखने से पहले जूते अवश्य उतार दें।

मार्ग में प्रमुख आकर्षण एक मंदिर है जिसमें पेशावर अवशेष (पेशावर से लाई भगवान बुद्ध की तीन हड्डियां) रखे हैं।

चोटी के निकट स्वर्ण मंडित बुद्ध प्रतिमा है जो विशेष अंदाज में निचे स्थित खूबसूरत शहर की ओर इशारा करती प्रतीत होती है। शिखर से शहर का शानदार नजारा दिखाई देता है।

Golden Buddha in Mahamuni Buddha Temple, Mandalay
Golden Buddha in Mahamuni Buddha Temple, Mandalay

पगोड़ा

पहाड़ी से नीचे की ओर आते हुए भी अनेक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को देख सकते हैं। ऐसा ही एक है क्या ऊकतावग्यी मठ जो अपने यहां स्थापित एक ही विशाल मार्बल से बनाई गई बड़ी-सी बुद्ध प्रतिमा के लिए मशहूर है। इसके अलावा पूर्णतः टीकवुड से बना संदामुनि पगोड़ा राजा मिंडन का अस्थायी आवास रहा था जब मांडले शहर का निर्माण हो रहा था।

इलाके के प्रमुख स्मारकों में कुथोडॉ मठ शामिल है जिसका निर्माण 1857 में राजा मिंडन ने करवाया था। यह मठ अपने यहां लगीं 729 पत्थर की स्लैब्स के लिए विख्यात है। इनमें से प्रत्येक स्लैब पर तिपिताक नामक पवित्र ग्रंथ को उकेरा गया है। प्रत्येक स्लैब एक अलग छोटे से सफेद रंग के पगोड़ा में स्थापित है। इस प्रतिमा पर दिन भर श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है। बैठी अवस्था में यह प्रतिमा वास्तव में धातु से बनी है। काफी वक्त से श्रद्धालुओं में इस पर स्वर्ण पत्र लगाने की परम्परा रही है। इस वजह से इस प्रतिमा का आकार दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है और इसका धड़, बाजू तथा टांगे सभी अपना वास्तविक आकार खो चुकी हैं। केवल चेहरा ही अनछुआ है।

मांडले निवासी

इस शहर की विशिष्ट पहचान इसके मृदुभाषी और गर्मजोशी से भरे निवासी हैं। यहां के लोग ही हैं जो मुख्यतः इस शहर को इसका वास्तविक चरित्र तथा आकर्षण प्रदान करते हैं।

यह एक ऐसा स्थान है जहां हमेशा कुछ न कुछ घटित होता रहता है।

इरावदी नदी

अपनी विशिष्ट स्थिति की वजह से मांडले व्यस्त व्यापारिक केंद्र है। हालांकि, इरावदी नदी तट इसकी खूबसूरती में जैसे चार चांद लगाता है। यहां पर माहौल आज भी 19 वीं सदी वाला प्रतीत होता है जिसका अपना ही एक अलग आकर्षण है।

Check Also

चिम्बोराजो: अंतरिक्ष के सबसे करीब

चिम्बोराजो: अंतरिक्ष के सबसे करीब

चिम्बोराजो ज्वालामुखी की खड़ी ढ़लान पर ऊपर की ओर जाने का प्रयास कर रहे एलैग्जैंडर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *